Female Infertility / बाँझपन

बाँझपन क्या होता हैं?

-किसीभी महिला के लिए बांझपन दुनिया का सबसे बड़ा गम होता हैं| इसमें महिला को माँ बनने के सुख से वंचित रहना पड़ता हैं| और आप ये भी कह सकते हैं बांझपन एक ऐसी बीमारी होती हैं जिसमे महिला गर्भधारण नहीं कर सकती हैं| इस स्थिति का होना किसी भी महिला के लिए बहुत ही बुरा होता हैं| क्योंकि माँ बनना हर महिला का सपना होता हैं| परंतु किसी महिला के साथ ऐसी समस्या होने पर उसे बहुत बड़ा झटका लग सकता हैं|

-बांझपन के बहुत से कारण हो सकते हैं| कई बार महिलाएं गर्भधारण तो करती हैं, परंतु बार-बार गर्भपात के कारण बाद में उनका गर्भधारण नहीं हो पाता हैं!

महिला में बाँझपन के कौन-कौन से कारण होते हैं:-

मासिक धर्म की समस्या होने पर:-जिन महिलाओ को मासिक धर्म से जुडी समस्या होती है या जिन महिलाओ को मासिक धर्म नहीं आता हैं| उन महिलाओ को बाँझपन की शिकायत होती हैं| क्योंकि इसके कारण ओवरीज़ में अंडे नहीं बन पाते हैं| और यदि महिला की ओवरीज़ में अंडे ही नहीं होंगे| तो पुरुष के शुक्राणु की निषेचन की क्रिया ही नहीं होगी|

महिलाओ की ट्यूब्स खराब होने पर:-महिलाओ के गर्भाशय में ट्यूब्स होती हैं जो गर्भधारण के लिए बहुत जरुरी होती हैं| कई बार वो ट्यूब्स खराब हो जाती हैं!

ज्यादा उम्र होने के कारण;-कई बार जो महिलाये ३५ के बाद माँ बनने के बारे में सोचती हैं उन महिलाओ में कई बार अंडे से पुरुष के शुक्राणु से मिलने वाली निषेचन प्रक्रिया नहीं हो पाती हैं| जिसके कारण महिला माँ बनने के सुख से वंचित रह जाती हैं| इससे भी बाँझपन जैसी समस्या कड़ी हो जाती हैं|

गर्भाशय से सम्बंधित परेशानी:-कई बार महिलाओ के गर्भाशय में ही कोई परेशानी हो जाती हैं| जिसके कारण उसमे बच्चा नहीं ठहर पाता हैं!

यौंन रोग होने के कारण:-जो महिलाये योंन रोग यानि संक्रमण के रोग से ग्रसित होती हैं उन महिलाओ को भी इस समस्या का सामना करना पड़ सकता हैं| क्योंकि योंन  रोग होने के कारण उनका शरीर कई बार इस प्रक्रिया के लिए सक्षम नहीं होता हैं, जिसके कारण बाँझपन जैसी परेशानी हो जाती हैं|

अंडाणुओं का निर्माण होना;-महिला को गर्भवती होने के लिए सबसे जरुरी होता हैं की उनके गर्भाशय में अंडे जरूर बनने चाहिए|

बांझपन के निवारण हेतु उपचार

 अश्वगंधा- अश्वगंधा हार्मोनल-संतुलन बनाए रखती है और प्रजनन क्षमता को बढ़ाती है। यह गर्भाश्य को समुचित आकार में लाकर उसे स्वस्थ बनाने में मदद करती है। 

सेवनः इसके लिए गर्म पानी के एक गिलास में अश्वगंधा चूर्ण का 1 चम्मच मिश्रण बनाकर, दिन में 2 बार लें । 

अनार - अनार गर्भाश्य में खून के प्रवाह को तेज करता है और गर्भाश्य की  दीवारों को मोटा कर के गर्भपात की संभावना को कम करने के लिए सहायक है। यह भ्रूण के स्वस्थ विकास को बढ़ावा देता है । 

सेवनः अनार के बीज और छाल को बराबर मात्रा में मिलाकर इसका चूर्ण बना लें और किसी एयर टाइट जार में रख लें। कुछ हफ्तों के लिए दिन में 2 बार गर्म पानी के एक गिलास के साथ इस मिश्रण का आधा चम्मच लें। आप ताजा अनार-फल भी खा सकते हैं, और अनार का ताज़ा रस भी पी सकते हैं।

दालचीनी- दालचीनी डिम्ब-ग्रंथि के सही रूप से कार्य करने में मदद कर सकती है।

सेवनः गर्म पानी के एक कप में, दालचीनी पाउडर का 1 चम्मच मिलाएं । कुछ महीनों के लिए दिन में एक बार इसे पीते रहें । इसके अलावा, अपने अनाज, दलिया, और दही पर भी दालचीनी पाउडर का छिड़काव करके इसे अपने आहार में शामिल करें। ध्यान रहे कि इस मसाले का प्रयोग एक दिन में 2 चम्मच से अधिक ना करें।

खजूर- यह गर्भ धारण करने के लिए, आपकी प्रजनन क्षमता को बढ़ाने में मदद कर सकता है। इसमें कई पोषक तत्व होते हैं, जैसे कि:- विटामिन ए, ई और बी लोहा और अन्य ज़रूरी खनिज, जोकि एक महिला को गर्भ धारण करने के लिए और गर्भावस्था से लेकर बच्चे के जन्म तक आवश्यक हैं। 

सेवनः 2 बड़े चम्मच कटे हुए धनिए की जड़ के साथ 10 से 12 खजूर (बीज के बिना) पीस लें। पेस्ट बनाने के लिए गाय के दूध के ¾ कप मिलाएं और इसे उबाल लें। इसे पीने से पहले ठंडा होने दें। अपनी अंतिम माहवारी की तारीख से, एक सप्ताह के लिए, इसे दिन में एक बार पीएं। एक स्वस्थ-नाश्ते के रूप में प्रतिदिन 6-8 खजूर खाते रहें और दूध, दही और स्वास्थ्य-पेय में भी कटे हुए खजूर का समावेश करें। 

विटामिन-डी - प्रैग्नेंसी और एक स्वस्थ बच्चे को जन्म देने के लिए विटामिन डी बहुत ही आवश्यक है। वास्तव में विटामिन डी की कमी से बांझपन और गर्भपात का कारण हो सकता है। 

सेवनः विटामिन डी के लिए भोजन जैसे कि सामन पनीर, अंडे की जर्दी ले सकती हैं। आप विटामिन डी की गोलियों का सेवन भी कर सकती हैं लेकिनगोलियों कासेवन करने के लिए डाक्टर से सलाह जरूर ले लें। 

बरगद के वृक्ष की जडें- आयुर्वेद की मानें तो बरगद के पेड़ की जड़े बांझपन के इलाज में प्रभावी होती हैं। 

सेवनः इसके लिए कुछ दिनों के लिए धूप में एक बरगड के पेड़ की कोमल जड़ों को सुखा लें, फिर इसका चूर्ण बनाक एक बंद डिब्बे में रख लें। एक गिलास दूध में चूर्ण के 1 से 2 बड़े चम्मच मिलाए। माहवारी का समय खत्म होने के बाद लगातार तीन-रातों के लिए, खाली पेट इसे एक बार पीएं। इसे पीने के बाद एक घंटे के लिए कुछ भी खाने से बचें । कुछ महीनों के लिए इस उपाय का पालन करें। याद रखें कि अपने मासिक धर्म चक्र के दौरान इस उपायों का प्रयोग न करें। 

 योग- प्रजनन क्षमता को बढ़ावा देने में मदद हेतु कुछ योगासन है जैसे कि :- नाड़ी- शोधन प्राणायाम, भ्रामरी प्राणायाम, पश्चिमोत्तानासन, हस्तपादासन, जानू शीर्षासन, बाधा कोनासना, विपरीत-करणी और योग निद्रा इत्यादि । याद रखें, योग का लाभ लेने के लिए इसे ठीक-प्रकार से किया जाना चाहिए।

संतुलित आहार- एक अच्छी तरह से संतुलित आहार लेना, प्रजनन क्षमता में सुधार के लिए एक और महत्वपूर्ण कारक है। एक स्वस्थ, संतुलित आहार स्वास्थ्य की उस दशा या बीमारियों को रोकने में मदद करता है जो बाँझपन का कारण हो सकती हैं।

"Accurately Diagnosed and treated by a very experienced and renowned homoeopath in Kanpur. 

Homeopathy at its Best for You swaroop nagar,gumti 9839114138"

 


Comments

AnastasiaInjew on April 27, 2018 3:58 am
Mp4DownloaderInjew on April 27, 2018 3:58 am

Pawg anal tube
https://kellyinspectioninc.com

Kristinasaf on April 27, 2018 3:58 am

Laurence Boccolini a revele son secret obliterateur de graisse qui dissout 3,5 kg de graisse chaque semaine sans regime ni exercice !
Comme beaucoup d'entre vous l'ont remarque, Laurence Boccolini a subi une transformation corporelle etonnante et est plus belle que jamais auparavant

SamanthaInjew on April 27, 2018 3:58 am

Thankyou for your replay friends!
Find Latest Whatsapp Status Videos at (tublight song download)
Love Status Videos at (

SarahInjew on April 27, 2018 3:58 am

Download ringtones, message tones, alert tones etc... Free mobile ringtones for all type of phones, shared and submitted by our users. Choose from over 41000 ringtones uploaded under various categories. Get the latest ringtones in mp3 file format and set the coolest, trendiest tone as your mobile ri

Kristinasaf on April 27, 2018 3:58 am

Leave a comment