Alopecia /  बालों का झड़ना

युवाओं की समस्या बालों का झड़ना।
समान्यतः बाल 10-13 एमए तक एक महीने में बढ़ते है। बाल मुख्यतः रात्रि में दिन से ज्यादा बढ़ते है। बालों मे गर्मी में जाड़े से अधिक वृद्धि होती है।
       स्वस्थ्य व्यक्तियों के सामान्यतः 50 -50 बाल रोजाना गिरते है।

कारण:
1.     अनुवाशिंक
2.     तीव्र बीमारी होने से
3.     अत्यधिक ज्वर से
4.     कुपोषण से
5.     सिर की त्वचा संक्रमण से
6.     तनाव की वजह से
7.     कैसर की दवाओ से
8.     हारमोन्स में परिवर्तन से
9.     रासायनिक पदार्थाे से
10.   स्वीमिंग पूल में उपयोग होने वाले हार्ड केमिकल से।
11.   ब्लीचिंग से, डाई से।

लक्षण:
अचानक बालों की सघनता, रूप, प्रकार या रंग में परिवर्तन होना।
टूटे बाल और दो मुँहें बाल।
-क्या करें, क्या न करे।
तनाव के कारण पहचानें और उन्हें कम करने का प्रयत्न करें। कार्यस्थल पर लम्बे कार्य के घंटों को कम करे

अव्यवहारिक मांगों से बचे।

बदलाव को सकारात्मक तरीके से स्वीकार करे।

परिवार के साथ अपनी परेशानियां बाटे।

संतुलित भोजन लें जिसमें प्रोटीन तथा विटामिन्स की समुचित मात्रा हो।

 बालों को रोज शैम्पू से साफ करने से बचे।

दो मुँहे बाल को हर दो सप्ताह में काट दें।

 टाइट ऐयर स्टाइल से बचे।

हेयर ड्रायर को सिर की त्वचा से ज्यादा करीब न ले जाये। कम से कम 15 सेमी0 की दूरी रखे।

शार्प कंघों और ब्रशों से बचे।

गीले बालों में कंघी करने की जगह तौलिए से मुलामियत से सुखायें|

होम्यो पैथी मे इसका समुचित इलाज सही तरीके से करने पर सभव है।

होम्योपैथी चिकित्सा:
       इस मर्ज का इलाज अगर धैयपूर्वक करायें तो आप फिर से बाल प्राप्त कर सकते है। होम्योपैथिक चिकित्सक के द्वारा बताये गये सावधानियों का पालन करें। बालों के इलाज में आर्निका तेल का एक जाना नाम है लेकिन पूर्ण इलाज तभी सम्भव है जब साथ मे नियमित होम्योपैथिक दवाओ का भी सेवन करे।

"Accurately Diagnosed and treated by a very experienced and renowned homoeopath in Kanpur. 

Homeopathy at its Best for You. contact :- Arya nagar & gumti no.5 Clinic ,  9839114138"


Comments

No comment added yet, comment Now

Leave a comment