Irregular Periods / अनियमित मासिक धर्म

महिलाओं का हर महीेने मासिक चक्र से गुजरना नियमित होता है लेकिन आज की भागदौड़ भरी और बिजी लाइफ के चलते लड़कियां अपनी डाइट पर प्रोपर ध्यान नहीं दे पाती, जिस वजह से मासिक चक्र का अनियमित होना आम है।
पीरियड्स का समय पर न होना कोई बड़ी बीमारी नहीं है लेकिन लंबे समय पर इस समस्या पर ध्यान न दिया जाएं तो इसका सेहत पर काफी प्रभाव पड़ सकता है।

सही समय पर पीरियड्स न होने के कारण 

1. तनाव :- तनाव पीरियड्स पर काफी प्रभाव पड़ता है। तनाव के कारण GnRH नामक हॉर्मोन की मात्रा कम होेने लगती है, जो अनियमित पीरियड्स का बड़ा कारण है। इसलिए अपने तनाव को दूर करने के लिए डॉक्टर की सलाह लें।
2. बुखार-जुखाम :- अचानक से बुखार, कोल्‍ड, कफ या फिर लम्‍बे समय तक बीमार रहना भी पीरियड्स को अनियमित करता है। जैसे-जैसे इन रोगों से उभरने लगते है पीरियड्स रेग्यूलर होने लगते है।
3. शैडयूल में परिवर्तन :- जब आपके शैडयूल में बदलाव आता है तो बॉडी का इसका काफी प्रभाव पड़ता है। ऐसे में पीरियड्स अनियमित होना आम है। इस समय पर घबराएं नहीं क्योंकि जैसे-जैसे आप इसके परिवर्तन के आदि होते जाएंगे, यह समस्या भी कम होती जाती है।
4. गर्भनिरोधक गोलियां :- जब कोई महिला गर्भनिरोधक गोलियां या अन्य दवाईयों का सेवन करती है तो ऐसे में भी पीरियड्स अनियमित हो सकते है। इस स्थिति में डॉक्टर की सलाह लें।
5. मोटापा :- पीरियड्स का अनियमित होने का एक कारण अधिक वजन भी है। ऐसे समय में प्रोपर एक्सरसाइज करें और हैल्दी डाइट लें।

मासिक धर्म की अनियमितता के लक्षण

1.मासिक धर्म की अनियमितता के होने पर महिला के गर्भाशय में दर्द होता हैं|
2. मासिक धर्म की अनियमितता से महिला को भूख कम लगती हैं|
3. मासिक धर्म की अनियमितता के होने पर महिला के शरीर में दर्द रहता हैं. खासतौर महिला के स्तनों में, पेट में, हाथ – पैर में तथा कमर मे|
4. मासिक धर्म की अनियमितता के होने पर महिला को अधिक थकान भी महसूस होती हैं|
5. मासिक धर्म के ठीक समय पर न होने के कारण महिला को पेट में कब्ज तथा दस्त की भी शिकायत हो जाती हैं|
6. मासिक धर्म की अनियमितता होने से महिला के शरीर में स्थित गर्भाशय में रक्त का थक्का बन जाता हैं|

अनियमित मासिक धर्म से बचने के उपाय

1. मासिक धर्म की अनियमितता को ठीक करने के लिए महिलाएं गरम दूध और अजवायन का सेवन कर सकती हैं. इस समस्या को दूर करने के लिए एक गिलास दूध लें और उसके साथ 8 से 10 ग्राम तक अजवायन लें. अब अजवायन को खाकर उसके ऊपर से दुध पी लें. मासिक धर्म की अनियमितता ठीक हो जाएगी|
2. मासिक धर्म की अनियमितता को दूर करने के लिए आप दालचीनी के चुर्ण का भी प्रयोग कर सकते हैं. इस रोग की समस्या से निदान पाने के लिए 4 या 5 ग्राम चुर्ण का पानी के साथ रोजाना का सेवन करें. रोजाना दालचीनी के चुर्ण का सेवन करने से मासिक धर्म में किसी भी प्रकार की समय नहीं होती तथा अगर आपके शरीर में मासिक धर्म की अनियमितता से दर्द हो रहा हो तो वह भी ठीक हो जाता हैं|
3.मासिक धर्म की अनियमितता से आराम पाने के लिए आप राई (सरसों) के दानों का भी उपयोग कर सकते हैं. मासिक धर्म की अनियमितता को खत्म करने के लिए राई के दानों को पीस लें. अब राई के इस चुर्ण को खाना खाते समय पहले के कुछ निवालों के साथ खाएं. राइ का सेवन खाने के साथ करने से मासिक धर्म से सम्बन्धित सभी प्रकार की दिक्कतें ठीक हो जाती हैं.|
4 यदि किसी महिला को मासिक धर्म ठीक समय पर न हो तो वह गाजर के रस का उपयोग कर सकती हैं. इस समस्या से निदान पाने के लिए गाजर के रस के साथ पानी का सेवन करें. दिन में दो बार गाजर के रस के साथ पानी को पीने से मासिक धर्म ठीक समय पर होंगे.|
5. मासिक धर्म के समय पर न होने पर आप तिल और गुड़ का भी सेवन कर सकते हैं. इस बीमारी से निजात पाने के लिए 20 गर्म तिल लें. अब एक बर्तन में 400 ग्राम पानी लें. अब पानी को गरम करने के लिए रख दें और उसमें तिल को डाल दें. अब इस पानी को कुछ देर तक उबाल लें. जब पानी अच्छी तरह से पककर आधा हो जाये तो उसे उतारकर रख दें और उसमें गुड़ डालकर मिला लें. अब इसका सेवन करें. इस मिश्रण का को पीने से मासिक धर्म समय पर होंगे तथा पेट का दर्द भी ठीक हो जायेगा.|
6. अगर किसी महिला को मासिक धर्म कम होते हैं. तो वह गुड़ के साथ काले तिल का सेवन कर सकती हैं. इसके लिए एक बर्तन में पानी को उबालने के लिए रख दें और उसमें काला  तील डाल दें. थोड़ी देर का बाद पानी को उतार लें और थोडा गुनगुना रहने पर इसका सेवन करें. गुड़ और काले तिल के इस मिश्रण का सेवन करने से मासिक धर्म खुल कर होंगे.|
7. तुलसी के पत्तों की ही भांति तुलसी के बीज भी बहुत ही उपयोगी होते हैं. मासिक धर्म के नियमित समय पर न होने पर आप इन बीजों का प्रयोग कर सकते हैं. मासिक धर्म की इस समस्या से राहत पाने के लिए तुलसी के बीजों को पानी में डालकर उबाल लें. उबालने के बाद पानी को उतारकर रख दे. थोड़ी देर के बाद इस पानी का सेवन करें. आपको अनियमितता से छुट्टी मिलेगी.|

"Accurately Diagnosed and treated by a very experienced and renowned homoeopathy in Kanpur.

Homeopathy at its Best for You, Contact us : - Gumti No. 5 , Arya Nagar,  9839114138 "


Comments

No comment added yet, comment Now

Leave a comment